आयुर्वेदिक दवा शिलाजीत के उपयोग, लाभ और दुष्प्रभाव क्या हैं ? -What Are The Uses, Benefits And Side Effects Of The Shilajit The Ayurvedic Medicine

शिलाजीत बाजार में उपलब्ध काले से भूरे रंग का powder है और यह natural रूप से चिपचिपा tar जैसे पदार्थ में होता है और बहुत दिलचस्प बात यह है कि यह न तो जानवर और न ही पौधे की उत्पत्ति। Shilajit सदियों से एक ayurvedic दवा के रूप में जाना जाता है और एक anti-aging यौगिक के रूप में उपयोग किया जाता है।

Shilajit, जिसे पहाड़ों के विजेता और कमजोरी के नाश करने वाले के रूप में भी जाना जाता है, हिमालय की पर्वत श्रृंखलाओं में पाया जाने वाला एक प्राकृतिक, tar जैसा पदार्थ है। Shilajit एक कायाकल्प करने वाले सदियों पुराने natural पदार्थ के रूप में लोकप्रिय है जो ऊर्जा, जीवन शक्ति को बढ़ाता है और विभिन्न स्वास्थ्य स्थितियों में सुधार करने में संभावित रूप से सहायक है।

शिलाजीत विभिन्न minerals और आवश्यक nutrients से भरपूर होता है। इसमें भरपूर मात्रा में bio-active compounds होते हैं जो प्रमुख रूप से fulvic और humic acid से बने होते हैं। Shilajit में कई चिकित्सीय गुण हैं जो वैज्ञानिक समुदाय में एक गर्म विषय रहा है, और इसकी पहचान आधुनिक विज्ञान द्वारा की जाती है। Shilajit प्रमुख रूप से अपने उपचार गुणों के लिए जाना जाता है l

⛰ शिलाजीत के अन्य नाम

  1. अंग्रेजी में शिलाजीत को Asphaltum, Black Bitumen, Jew’s pitch के नाम से जाना जाता है।
  2. संस्कृत में इसे सिलरस, Shilajit, सिलाजीत के नाम से जाना जाता है।
  3. हिंदी, गुजराती और मराठी में इसे शिलाजीत के नाम से जाना जाता है।
  4. बंगाली में इसे सिलाजातु के नाम से जाना जाता है।
  5. तमिल में इसे यूरांग्युम, पेरंग्युम, उरेंग्युम के नाम से जाना जाता है।
  6. लैटिन में इसे एस्फाल्टम के नाम से जाना जाता है।

    shilajit_
    shilajit_

⛰ शिलाजीत के उपयोग और लाभ Uses And Benefits

मस्तिष्क की कार्यप्रणाली में सुधार करता है Alzheimer

Shilajit में पाए जाने वाले विभिन्न यौगिक आपके मस्तिष्क के कार्य में सुधार के लिए उपयोगी होते हैं। Shilajit उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है और लंबी उम्र बढ़ाता है। Shilajit के घटक Alzheimer जैसी संज्ञानात्मक समस्याओं के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं।

एनीमिया के इलाज के लिए Anemia

anemia के प्राथमिक कारणों में से एक आयरन की कमी है। यदि आपके रक्त में पर्याप्त hemoglobin नहीं है तो आप एनीमिया से पीड़ित हो सकते हैं। यह थकान, सिरदर्द, कमजोरी और अनियमित दिल की धड़कन पैदा कर सकता है।

हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है Heart 

शिलाजीत के कई स्वास्थ्य लाभों में से शायद सबसे महत्वपूर्ण यह है कि यह हृदय को कैसे लाभ पहुंचाता है। शिलाजीत एक एंटीऑक्सीडेंट ग्लूटाथियोन के स्तर को बढ़ाता है। यह आपके दिल के लिए अच्छा है। इसके अलावा, ह्यूमिक एसिड रक्त कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, जो बदले में स्ट्रोक की संभावना को कम करता है।

तनाव और चिंता के स्तर को कम करना Stress Anxiety 

shilajit मस्तिष्क में डोपामाइन के स्राव को बढ़ा सकता है। यह चिंता और तनाव के स्तर को कम कर सकता है। शिलाजीत का आपके शरीर पर शांत प्रभाव भी पड़ता है। यह potassium और magnesium के उच्च स्तर के कारण है। ये घटक आपकी मांसपेशियों को आराम देते हैं, जिसमें आपके हृदय की मांसपेशियां भी शामिल हैं।

एक बेहतर आंत के लिए Gut Health

shilajit आपके पेट को सूजन और oxidative तनाव जैसी समस्याओं से बचा सकता है। इसमें बेंजोइक एसिड होता है, जो antibacterial होता है। यह आंत के संक्रमण और आंत की अन्य समस्याओं को रोकने में मदद कर सकता है।

प्रजनन क्षमता और टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाता है Fertility

पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने के लिए इस पदार्थ का उपयोग वर्षों से किया जा रहा है। जो पुरुष शिलाजीत का सेवन करते हैं उनमें शुक्राणुओं की संख्या और शुक्राणुओं की गतिशीलता अधिक होती है। ये दोनों कारक निर्धारित करते हैं कि शुक्राणु अंडे की ओर कितनी अच्छी तरह चलता है, जो बदले में गर्भधारण की संभावना को निर्धारित करता है।

शिलाजीत और कैंसर Cancer

कैंसर के इलाज के दौरान रोगी को उसकी निश्चित अवस्था के बाद कीमोथेरेपी से गुजरना होगा। यह एक बहुत ही दर्दनाक उपचार है और यह ट्यूमर कोशिकाओं से घिरी सामान्य कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचा सकता है। ट्यूमर कोशिकाओं की वृद्धि मुक्त कणों के उत्पादन को बढ़ाती है। इसलिए, शिलाजीत का सेवन जिसमें फुल्विक और ह्यूमिक एसिड जैसे शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, मुक्त कणों को खत्म कर सकते हैं। इस तरह यह कैंसर के इलाज से पीड़ित मरीजों के दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।

⛰ शिलाजीत के उपयोग uses

  • शिलाजीत का उपयोग न्यूरोसाइकिएट्रिक विकारों के इलाज में टॉनिक के रूप में किया जाता है।
  • कुछ अध्ययन उपलब्ध हैं जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि शिलाजीत का उपयोग चिंता-विरोधी एजेंट के रूप में किया जा सकता है।
  • शिलाजीत एक नॉट्रोपिक है जिसका अर्थ है कि यह स्मृति शक्ति को बढ़ाता है जो सीखने के अधिग्रहण को बेहतर बनाने में बहुत मददगार है।
  • शिलाजीत का उपयोग विशेष रूप से खराब पाचन से पीड़ित रोगी के लिए जीआई प्रणाली में सुधार के लिए किया जाता है।
  • शिलाजीत के नियमित सेवन से पेट को बड़ा करने में मदद मिल सकती है।
  • शिलाजीत का उपयोग गैस्ट्रिक वर्म की समस्याओं यानी रेक्टल फिस्टुला जीआई वर्म्स के इलाज में किया जाता है।
  • मूत्राशय में गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए शिलाजीत का उपयोग करके कुछ आधुनिक दवाएं तैयार की जाती हैं।
  • मिर्गी में शिलाजीत के प्रयोग का महत्व बताया गया है।

⛰ शिलाजीत के दुष्प्रभाव side effects

शिलाजीत के सेवन से हो सकते हैं साइड इफेक्ट्स: दुर्बलता, सिरदर्द, थकान, पेटदर्द, कुछ लोगों को एलर्जी का अनुभव हो सकता है। वे चकत्ते, चक्कर आना और हृदय गति में वृद्धि विकसित कर सकते हैं।

⛰ शिलाजीत का सेवन कैसे करें ?

शिलाजीत आमतौर पर पाउडर या तरल रूप में बेचा जाता है, यह पैक पर उपयुक्त तैयारी विधि के साथ आएगा। तरल रूप आमतौर पर पानी या दूध में घुल जाता है और इसे हर दिन 1-3 बार सेवन किया जा सकता है। आपके डॉक्टर या चिकित्सक के पास आपके लिए विशिष्ट निर्देश हो सकते हैं, इसलिए पहले उनके साथ जांच करें। पाउडर के रूप में आमतौर पर एक गिलास दूध के साथ मिलाया जाता है और सिफारिशों के अनुसार इसे रोजाना भी लिया जा सकता है। अधिकांश स्वस्थ लोगों के लिए, प्रति दिन अधिकतम सुरक्षित खुराक 300-500mg है, कुछ लोगों के लिए यह और भी कम हो सकती है। यदि आपके पास चिकित्सीय स्थितियां हैं या इस पदार्थ से एलर्जी है, तो यह आपके लिए सुरक्षित नहीं हो सकता है।

निष्कर्ष

Shilajit सदियों से एक ayurvedic दवा के रूप में जाना जाता है l शिलाजीत पूरक या पाउडर के रूप में उपलब्ध है जिसे पानी या दूध के साथ सेवन किया जा सकता है। जैसा कि पहले चर्चा की गई है, यह बहुत प्रभावी हो सकता है यदि इसे ठीक से उपयोग किया जाए।

इसे भी पढ़े -   अपने बच्चे के पाचन में सुधार कैसे करें - How To Improve Your Baby’s Digestion