Category: Informative Tips

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ का जीवन परिचय 💙Life introduction of Suryakant Tripathi ‘Nirala’ in Hindi

जीवन परिचय (1896-1961) सन 1896 के फरवरी माह में पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर जिले के महिषादल गांव में जाने माने साहित्यकार श्री सूर्यकांत त्रिपाठी निराला जी का जन्म हुआ था उनका पितृ ग्राम  उत्तर प्रदेश के गढ़कोला  (उन्नाव) है| बचपन में उन्हें सूर्य कुमार के नाम से पुकारा जाता था|

आगे पूरा पढ़े -

जानिए ऑनलाइन एजुकेशन के फायेदे और नुक्सान 📚 Online Education: Advantages And Disadvantages in Hindi

क्या हैं ऑनलाइन शिक्षा ? 📚 What is Online Education? in Hindi ऑनलाइन शिक्षा एक प्रकार की शिक्षा है, जहाँ शारीरिक रूप से कुछ भी उपस्थित नहीं है | न तो शिक्षक और न ही शिष्य (Teacher & student) | इसमें इंटरनेट के ज़रिये से संचार उपकरणों (Technical equipment) का

आगे पूरा पढ़े -

जाने, इंटरनेट के फायेदे और नुक्सान Advantages & Disadvantages of internet in Hindi

क्या हैं इंटरनेट ? What is Internet? इंटरनेट (internet) एक प्रकार का मायाजाल हैं, आप मन ही मन ये सोचने पर मजबूर हो गये होंगे की हम इसे मायाजाल क्यों बोल रहें वो इसलिए क्योकि  दुनिया का सबसे बड़ा और व्यस्तम नेटवर्क है | इंटरनेट को हिंदी में ‘अंतरजाल‘ कहते

आगे पूरा पढ़े -

जयशंकर प्रसाद जी का जीवन परिचय ✅Biography of Jaishankar Prasad in Hindi tips

जीवन परिचय(1889-1937)💖 प्रसिद्ध रचनाकार जयशंकर प्रसाद जी का जन्म 30 जनवरी १८८९ (1889) में उत्तर प्रदेश के वाराणसी Varanasi Uttar Pradesh के काशी में हुआ था| इनके पितामह का नाम शिवरतन साहू और पिता का नाम देवी प्रसाद साहू था| प्रसाद जी का बाल्‍यकाल सुख के साथ व्‍यतीत हुआ। इन्‍होंने

आगे पूरा पढ़े -

गोस्वामी तुलसीदास का जीवन परिचय 💟 Biography of Goswami Tulsidas in Hindi

जीवन परिचय (1532-1623) ऐसा माना जाता है कि तुलसीदास Tulsidaas का जन्म सन 1532 में बांदा जिले के राजापुर Rajapur of Banda district गांव में हुआ था| कुछ विद्वानों Scholars के अनुसार इनका जन्म सोरों Soron में हुआ था| और कुछ लोगो का कहना है की तुलसीदास जी का जन्म

आगे पूरा पढ़े -

रघुवीर सहाय जी का जीवन परिचय ❣ Biography of Raghuvir sahay in Hindi tips

जीवन परिचय (1929-1990) सन 1929 में उत्तर प्रदेश के लखनऊ (Lucknow, Uttar Pradesh)में जाने माने लेखक श्री रघुवीर सहाय जी का जन्म(Born) हुआ था| रघुवीर जी की गणना (counting)हिंदी साहित्य(Hindi literature) के उन कवियों में की जाती है जिनकी भाषा और शिल्प(The craft) में पत्रकारिता(Journalism) का प्रभाव साफ़ नज़र आता

आगे पूरा पढ़े -