Health Benefits Of Coriander

दुनिया इस बात से सहमत है कि धनिया की पत्तियां सबसे पुरानी जड़ी-बूटियों में से एक हैं जो आपके पकवान को रोशन कर सकती हैं और इसे आकर्षक और आकर्षक बनाती हैं। धनिया के पौधे के सभी भाग खाने योग्य होते हैं लेकिन ताजा, सुगंधित पत्ते और सूखे बीज सबसे अधिक हमारे भारतीय व्यंजनों में उपयोग किए जाते हैं।
धनिया एक बहुत पुरानी जड़ी बूटी है, जिसे 5000 ईसा पूर्व के रूप में जाना जाता है और इटली में उत्पन्न हुआ था। हमारा सम्मानीय धनिया भारतीय मूल का नहीं है, बल्कि हर देसी घराने का हिस्सा है। जी हाँ, हमारे भारतीय व्यंजन धनिया पत्ती के बिना अधूरे हैं। इसलिए, इस जड़ी बूटी के बारे में और जानना और भी मजेदार है।

धनिया पत्ती के पोषण तथ्य – Nutrition Facts of Coriander

Table of Contents

धनिया पत्तियां विटामिन ए और विटामिन सी का एक उत्कृष्ट स्रोत हैं। इन पोषक तत्वों के साथ, धनिया के पत्तों में से प्रत्येक सेवारत पोषक तत्वों की एक मात्रा के साथ भरी हुई है जैसे आहार फाइबर, लोहा, मैंगनीज, कैल्शियम, विटामिन के, फास्फोरस, आदि।

धनिया के स्वास्थ्य लाभ – Health Benefits of Coriander

स्वस्थ दृष्टि – Healthy Vision

हम सभी ने अपनी दादी-नानी से स्वस्थ आंखों के लिए अपने भोजन में धनिया को शामिल करने के बारे में सुना है। ऐसा इसलिए है क्योंकि धनिया की पत्तियों में एक उत्कृष्ट मात्रा में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई और कैरोटीनॉइड होते हैं, जो अच्छी दृष्टि को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं। अध्ययनों ने यह भी पुष्टि की है I

प्रतिरक्षा का समर्थन – Supports Immunity

धनिया की पत्तियां विटामिन सी और विटामिन ई से भरपूर होती हैं और विटामिन ए के साथ ये दोनों पोषक तत्व आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को धीरे-धीरे बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं। विटामिन सी सफेद रक्त कोशिकाओं को प्रभावी ढंग से काम कर सकता है और लोहे के अवशोषण में भी मदद करता है।

खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद – May help to lower Bad Cholesterol

आज की जीवनशैली में, हर तीसरा व्यक्ति उच्च कोलेस्ट्रॉल समस्याओं से पीड़ित है। धनिया के पत्तों का नियमित सेवन एलडीएल (खराब) कोलेस्ट्रॉल को कम करने और एचडीएल (अच्छा) कोलेस्ट्रॉल में सुधार करने में मदद कर सकता है।

हड्डियों स्वास्थ्य को मजबूत – Bone Health

धनिया की पत्तियां कैल्शियम, मैंगनीज, मैग्नीशियम और फास्फोरस जैसे हड्डियों से समृद्ध खनिजों की उदार मात्रा में होती हैं। धनिया का विरोधी भड़काऊ कार्य हड्डी को गठिया से संबंधित दर्द से भी बचाता है।

आंत स्वास्थ्य को बढ़ाने में मदद – Help to Enhance Gut Health

धनिया की पत्तियों में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो पाचन समस्याओं से राहत प्रदान करने में मदद कर सकती है। यह पेट की ख़राबी, दस्त, आंत्र ऐंठन, गैस या मतली जैसी विभिन्न पाचन समस्याओं के लिए भी अध्ययन किया जा रहा है।

स्वस्थ त्वचा – Healthy Skin

आयरन, विटामिन ई और विटामिन ए का पावरहाउस होने के नाते, यह मुक्त कणों से लड़ता है जो त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। धनिया तैलीय त्वचा के लिए एक उपाय के रूप में भी काम करता है क्योंकि यह अतिरिक्त तेल को अवशोषित करने की क्षमता के कारण होता है। यह एक रोगाणुरोधी, एंटीसेप्टिक और एंटिफंगल एजेंट भी है जो त्वचा को शांत करने और शांत करने में मदद कर सकता है।

धनिया पत्ती का उपयोग कैसे करें? How to use leaves of coriander ?

अपने आहार में धनिया पत्ती को नियमित रूप से शामिल करना बुद्धिमानी है। उन्हें अपने दाल, सब्ज़ी, सलाद या रायते में शामिल करने की कोशिश करें। आपकी त्वचा के लिए, धनिया का पेस्ट बनाएं और इसे अपनी त्वचा पर लगाएं और 15 मिनट बाद धो लें। ताजा धनिया का रस आपके विटामिन और खनिजों के दैनिक अनुशंसित सेवन को पूरा करने में मदद करता है।अपने छाछ के गिलास में 1 या 2 चम्मच रस मिला कर देखें।

सन्देश : आपने आहार में इस स्वास्थ्य से भरपूर सब्जी को जोड़े और इसका लाभ उठाये I

आप को हमारा ये पोस्ट कैसा लगा ? निचे अपनी राय अवश्य दीजिये... जिस से हम आप को और भी बेहतर हिन्दी टिप्स दे सके - धन्यवाद