हिचकी कभी भी, कही पर भी आ जाती तो इसे बंद करने के लिए करे यह उपाय How to stop hiccups instantly?

Spread the love

आपने सुना तो होगा हिचकी के बारे में काफी सारी मान्यताएं और काफी लोग भी इसको लेकर अलग सोचते हैं। लेकिन हम आपको आज की इस पोस्ट मे इसके हेल्थ से जुड़े कारणों और हिचकी को रोकने के तरीके (Ways to stop hiccups) को बताएंगे। जय्दातर हम लोगो के साथ ऐसा होता है खाना खाने के बाद हमे हिचकी अपने आप आने लगती है। खाने को ज्यादा खाने से या खाने के बाद अधिक पानी पीने या फिर खाने को बहुत जल्दी खाने से या पानी पीने के बाद भी हमे हिचकी आ जाती है। कभी कभी हिचकी का आना नोरमल होता है। पर जब यह हिचकी लगातार आने लगती है और बार-बार आती है, तो कोई भी जाहिर है की परेशान हो जाएगा। यदि आप भी इस समस्या से गुजर रहे हैं, तो आप भी जान ले हिचकी को रोकने के घरेलू उपाय।

क्या है हिचकी आने का कारण What is the cause of hiccups

हमारा पेट जो होता है वह शरीर में मौजूद डायफ्राम की बिलकुल सीध में होता है, यह जल्दी प्रभावित हो जाता है खाने या पीने से। और पेट के वजह से ही डायाफ्राम का डिस्टर्ब होना जाहिर है, और फिर डायाफ्राम सिकुड़ जाता है। क्यूंकि जब हम सांस लेते हैं, तो डायफ्राम सिकुड़ ही जाता है। और इसकी वजह से हमें हिचकी की प्रॉब्लम का सामना करना पड़ता है। अधिक उत्साह व नर्वस होना या कार्बोनेटेड ड्रिंक पीने की वजह से भी हिचकी आती है। सौंफ या कोई दूसरी चीज चबा के खाते समय भी जब हवा अंदर को चली जाती है, तो हिचकी आ सकती है। कभी-कभी तापमान के बढ़ जाने से भी हिचकी आती है।

इसे भी पढ़े - हफ्ते में बस एक बार फॉलो करें ये Face Care Routine, चमक उठेगा चेहरा

तनाव में होने पर भी आती है हिचकी
Hiccups even when under stress

आपने कभी कबार यह नोटिस किया होगा की आप चुपचाप से बैठी रहती हो या रोने लगती हो, तो उस समय बहुत हिचकी आने लगती है। आपको यह काफी बार लगता भी होगा की डायफ्राम में अचानक से ऐंठन सी होने लगी जाती है और हिचकी भी आने लगी है। यहां भुत सारे उपाय हैं, जो हिचकी को रोकने में आपको काफी मदद करेंगे|

हिचकी रोकने के उपाय Remedies to stop hiccups

मुंह के ऊपर अपना हाथ रखें Put your hand over your mouth

जो आपके हाथ हैं उन को अपनी नाक और मुंह पर रखने का ट्राई करें, परन्तु नोरमल रूप से आप सांस लेते रहें। आप मुंह से सांस लेने का जायदा ट्राई करें, वो इसलिए क्यूंकि कार्बन डाइऑक्साइड की अधिक खुराक आपको आपकी हिचकी से छुटकारा पाने में बहुत मदद करेगी।

इसे भी पढ़े - भारत में शीर्ष 10 विश्वविद्यालय / Top 10 Universities in India | MoE, National Institute Ranking Framework (NIRF) NIRF Ranking 2023

कुछ देर सांस को रोक लें Hold your breath for some time

इस बार जब आपको हिचकी आने लगे, तो आप एक गहरी सी सांस लें। सांस लेने के बाद आप उसे कुछ समय के लिए रोक लें। और जब फेफड़ों में कार्बन डाइऑक्साइड बन ने लगता है, तो आपका जो डायाफ्राम होता है वह रिलैक्स हो जाता है। और डायाफ्राम रिलैक्स हो जाता है तो हिचकी बंद हो जाती है।

अपनी गर्दन की मालिश करें Massage your neck

अगर आपकी हिचकी मुंह और नाक पर हाथ रखने से भी नहीं रूक रही है, तो आप गर्दन पर मसाज करने का प्रयास करें। हमारे गर्दन पर कैरोटिड धमनियां (carotid arteries) होती हैं। इसलिए गर्दन के उल्टी और सीधी तरफ मसाज और रब करने की कोशिश करें

इसे भी पढ़े - ईयर बैरोट्रॉमा के लक्षण और इलाज

अपनी जीभ को बाहर निकालने का अभ्यास Sticking out your tongue

अगर आपको सभी के सामने यह उपाय करने में हिचक लगे, तो आप कमरे के अंदर चले जाएं। जहां पर आपको कोई भी नहीं देख रहा हो, फिर आप अपनी जीभ को बाहर निकालिए। यह जो अभ्यास है वो गायकों और अभिनेताओं द्वारा करा जाता है, क्योंकि इस अभ्यास को करने से वोकल कोड्स (glottis) उत्तेजित होता है। इस प्रोसेस के बाद आप अधिक आसानी से सांस को ले सकोगे। और यह हिचकी होने के कारण बनने वाली ऐंठन भी पूर्ण रूप से शांत हो जाती है।

अपने कान को उंगलियों से बंद करें Plug your ears

अगर हिचकी नहीं रूक रही है, और कंटिन्यू आ रही है तो अपनी उंगलियों से अपने दोनों कान को अठारह से अठाईस सेकंड के लिए बंद कर लें। अब इसके बाद स्कल बिलकुल ठीक नीचे के सॉफ्ट एरिया, जो इयरलोब्स के पीछे ही होता है, उसको उंगलियों से दबा लें। यह वेगस नव्र्स के द्वारा रिलैक्स होने का साइन डायफ्राम को भेजता है।

थोड़ा पानी पिएं Drink a little

अगर हिचकी बिलकुल नहीं रुक पा रही है, तो एक गिलास पानी लें और पी लें, मतलब लगातार 9-10 घूंट पानी के पी लें, पानी पीने से एसोफैगस रिद्म के साथ सिकुड़ जाता है, जिससे डायाफ्राम आसानी से रिलैक्स हो जाता है और आपकी हिचकी बिलकुल बंद हो जाती है। अगर गिलास के ऊपर पेपर टॉवेल रख कर पानी पीने का प्रयास करें, तो आपके डायफ्राम को अधिक मेहनत करनी पड़ जाती है और हिचकी बिलकुल बंद हो जाती है।


Spread the love

Discover more from Hindi Tips 📌 Tips in Hindi

Subscribe to get the latest posts to your email.