सुनामी क्या, क्यों और इससे बचाव के टिप्स – Tsunami what, why and prevention Tips in Hindi

सुनामी क्या हैं ? (What is Tsunami)

सुनामी (Tsunami) एक प्राकृतिक आपदा Natural disaster है जो जन जीवन का नाश कर देती है। यह एक ऐसी आपदा  है जिसमे समुन्दर के तल में भयंकर कम्पन Ultra Vibration होता है, सूनामी समुद्र के अंदर आये भूकंप के द्वारा भी पैदा हो सकती है। तेज़ और बड़ी लहरों की श्रृंखला आसमान की उंचाईयों तक जैसी पहुँच जाती है और विनाश का रूप धारण कर लेती है। earthquake की वजह से सुनामी Tsunami जैसे प्राकृतिक आपदा जन्म लेते है।

इतिहास गवाह है कि सुनामी कितनी खतरनाक है। समुद्र के सतह पर उत्पन्न होने वाली लगातार तरंगे , जिसका प्रमुख बिंदु जो पानी के बिलकुल  नीचे उपलब्ध है , उसे सुनामी कहा जाता है। Tsunami के कारण पानी की लहरो का निर्माण तीव्रता से होता है। फिर यह जमीन के निकटम इलाको तक पहुँचता है और कहर बरसाता है।

सुनामी (Tsunami) आने के कारण एवं उनका प्रभाव ( Effect and Causes)

  1. ज्यादातर सुनामी भूकंपों से ही पैदा होते हैं और ये सबसे अधिक विनाशकारी होते हैं l
  2. जब महासागरीय नितल पर 6.5 रिक्टर पैमाने से ज्यादा तीव्रता का भूकंप आता है तो नितल पर बड़े पैमाने पर हलचल मच जाती है और उसके ऊपर के जल का संतुलन बिगड़ जाता है l जैसे ही जल दुबारा अपना संतुलन प्राप्त करने का प्रयास करता है, वैसे ही तरंगें पैदा होती है l ये तरंग भूकंप के केन्द्र पर जल के ऊपर उठने से बनती है |
  3. सुनामी, भूस्खलन तथा चट्टानों और बर्फ के फिसलने से भी पैदा होती है| उदाहरण के लिए, 1980 के दशक में दक्षिणी फ्रांस के तट पर हवाई अड्डे के निर्माण कार्य के दौरान जल के नीचे भूस्खलन हुआ था, जिससे मिस्र के थीबस बंदरगाह में विनाशकारी सुनामी आया था |
  4. जब समुद्र में ज्वालामुखी फटता है तो यह बड़ी मात्रा में समुद्री जल को विस्थापित कर देता है, जिसके कारण सुनामी पैदा होती है |
  5. जन-धन की हानि बहुत ज्यादा होती हैं जो की भट दर्दनाक हैं |
  6. पृथ्वी के घूर्णन गति में वृद्धि |
  7. महासागरीय जीवन में बदलाव हो जाता हैं समुद्र में रहने वाले जीवो को क्षति होती हैं |
  8. मिट्टी की उपजाऊ शक्ति का ह्रास, उसकी उर्वरक शक्ति क्षीण हो जाती हैं |
इसे भी पढ़े -   माधुरी टॉकीज ❤ एक बदले की आग Madhuri Talkies:- Revenge Fire in Hindi

सुनामी (Tsunami) से बचाव के टिप्स 

  1. सुनामी की चेतावनी  और उसका आभास होते ही लोगो को अपने सुरक्षित स्थानों पर चले जाना चाहिए।
  2.  उन स्थानों पर जहाँ सुनामी आने के प्रबल अनुमान किये जाते है ,सरकार को आपातकालीन निकासी योजना बनानी चाहिए। इससे लोगो को सुरक्षित निकाला जा सकता है।
  3. समुद्र तट पर रह रहे लोगो को भूकंप संबंधित सुचना रहनी  चाहिए।  समुद्र तट की सारी जानकारी टेलीविज़न और रेडियो द्वारा पहुंचाई जाती है।
  4. भूकंप कितनी तीव्र गति से आया है और किस दिशा में जा रहा है , यह सारी सूचना जन मानस के लिए ज़रूरी है |
  5. पता करें कि नजदीक में कहां पर जमीन ऊंची है और आप वहां कैसे पहुंच पाएंगे।
  6. आप जितना कर सकें उतना ऊंचाई पर या तट से दूर आंतरिक क्षेत्र में पहुंचने की योजना बनाएं।
  7. जब आप घर पर हो, या आप काम पर हों या तट के निकट छुट्टियां मना रहें हो तो इन सब हालात के लिए अपने बचाव मार्ग की योजना बनाएं।

नोट :

सुनामी (Tsunami) एक तरह की खतरनाक आपदा है। यह पृथ्वी  की गुरुत्वाकर्षण (Gravitation) से प्लेटो को समंदर में नीचे की ओर खींचती है। इसकी वजह से भयानक तरंगे जन्म लेती है।  मनुष्य को अपने पर्यावरण का संरक्षण और संतुलन बनाये  रखना चाहिए ताकि ऐसी विनाशकारी स्थिति ना उतपन्न हो | सुनामी की चुनौतियां तो काफी कठिन हैं पर यदि पहले से समुचित तैयारीे की जाए तो सुनामी से होने वाले संभावित विनाश को काफी कम अवश्य किया जा सकता है।