पानी के बारे में अद्भुत और महत्वपूर्ण जानकरी – Amazing & Important information about Water

जल नही तो, कल नही No water, No tomorrow

मेरे प्रिय पाठको अपने ये कहावत तो सुनी ही होगी की “जल ही जीवन हैं ” (Water is life) और “जल नही तो कल नही” (No water no tomorrow), तो आइये आज हम बात करेंगे पानी के बारे में कुछ ज़रूरी और खांस बाते l  हमारे शरीर का संघटन (Composition) 70 प्रतिशत (Seventy percent) जल से बना है। केवल हमारा शरीर ही नहीं, अपितु (But) हमारी पृथ्वी भी दो-तिहाई जल से आच्छादित है। जल, वायु और भोजन हमारे जीवन रुपी इंजन के इंधन है। एक के भी न रहने पर जीवन संकट में पड़ सकता है। “जल ही जीवन है” यूं ही नहीं कहा जाता है।

पानी की जरूरत Importance of water

दुनिया के हर जीव को जीने के लिए पानी की जरूरत होती है। छोटे कीड़े से लेकर ब्लू व्हेल (Blue whale) तक, पृथ्वी पर हर जीव (Every creature on earth) पानी की उपस्थिति के कारण मौजूद है। एक पौधे को बढ़ने और ताजा रहने के लिए भी पानी की आवश्यकता होती है। छोटी मछली (Small Fish) से लेकर एक व्हेल तक को पानी की आवश्यकता होती है, क्योंकि उसी से उनका अस्तित्व (existence) रहता है। हम मनुष्यों (Humans) को हमारे जीवन के लिए दिन-प्रतिदिन (day to day) पानी की आवश्यकता होती है। पानी की आवश्यकता के कारण (cause) जीव से जीव में भिन्नता (difference) हो सकता है। लेकिन दुनिया (दुनिया) में पानी की मात्रा उपलब्ध होने के साथ दुनिया का अस्तित्व जल ही सुनिश्चित (make sure) करता है। हमारे शरीर में कोशिकाएं (cells) पानी के बिना ठीक से काम नहीं करेंगी। हमें पानी या तो सीधे या फलों या सब्जियों (Fruits or vegetables) के ज़रिए लेना चाहिए, जिनमें पानी की मात्रा पर्याप्त (Quantity sufficient) हो।

पानी हमारे लिए बहुत मायनों में आवश्यक है Water is essential for us in many ways

  1. अस्तित्व के लिए पानी पीना और अपने द्वारा खाए गए भोजन (meal) को पचाने के लिए
  2. नहाना
  3. खाना बनाना
  4. हमारे कपड़े और चीजें धोना
  5. बर्तन साफ करना और घर की साफ-सफाई (cleanliness)
  6. इसके अलावा, स्वस्थ फलों और सब्जियों (Healthy fruits and vegetables) को प्राप्त करने के लिए, हमें पौधों, पेड़ों और फसलों के लिए नियमित रूप (Regular form) से भरपूर पानी की आवश्यकता होती है।
इसे भी पढ़े -   भारत का राज्य सिक्किम, इतिहास और चीन की आपत्तियां:- SIKKIM State Of India

एक ही समय में दुर्लभ Rare at the same time

पानी एक बहुत ही महत्वपूर्ण पदार्थ है, जो एक ही समय में दुर्लभ है। यद्यपि हम महाद्वीपों के आसपास के महासागरों में बहुत पानी देखते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि हम महासागरों (Oceans) या समुद्र के पानी का उपभोग नहीं कर सकते हैं। दुनिया का केवल 3% पानी ही ऐसे रूप में है जिसका हम उपभोग (Consumption) कर सकते हैं। ताजे पानी के संसाधन हैं –

  • बांध
  • ग्लेशियरों
  • भूमिगत जल
  • नदियां
  • झीलें
  • चट्टानों के नीचे

जल ही जीवन है Water is life for Everyone

  1. यदि हम अपने व्यक्तिगत जीवन (personal life) के बारे में बात करते हैं, तो पानी हमारे अस्तित्व की नींव है। मानव शरीर (Human body) को जीवित रहने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। हम पूरे एक सप्ताह तक बिना किसी भोजन के जीवित (Live food) रह सकते हैं, लेकिन पानी के बिना, हम 3 दिनों तक भी जीवित नहीं रह सकते हैं।
  2. इसके अलावा, हमारे शरीर में ही 70% पानी शामिल है। बदले में यह हमारे शरीर को सामान्य रूप से कार्य करने में मदद करता है। इस प्रकार, पर्याप्त पानी की कमी या दूषित पानी की खपत (Contaminated water consumption) मनुष्यों के लिए गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती है।
  3. इसलिए, पानी की मात्रा और गुणवत्ता (Quantity and quality of water) जो हम उपभोग करते हैं वह हमारे शारीरिक स्वास्थ्य (Physical health) और तंदरुस्ती के लिए आवश्यक है। इसके अलावा, हमारी दैनिक गतिविधियाँ पानी के बिना अधूरी हैं। चाहे हम सुबह उठकर ब्रश करने ,नहाने या अपने भोजन को पकाने की बात करें, यह भी उतना ही महत्वपूर्ण है।
  4. पानी का यह घरेलू उपयोग हमें इस पारदर्शी रसायन (Transparent chemicals) पर बहुत निर्भर करता है। इसके अलावा, बड़े पैमाने (Large scale) पर, उद्योग बहुत सारे पानी का उपभोग करते हैं। उन्हें अपनी प्रक्रिया के लगभग हर चरण के लिए पानी की आवश्यकता होती है। यह हमारे द्वारा प्रतिदिन उपयोग (Daily use) किए जाने वाले सामानों के उत्पादन के लिए भी आवश्यक है।
  5. यदि हम मानव उपयोग से परे देखते हैं, तो हम महसूस करेंगे कि पानी हर जीवित प्राणी के जीवन में एक प्रमुख भूमिका (prominent role) निभाता है। यह जलीय जंतुओं का घर है। एक छोटे कीड़े से एक विशाल व्हेल तक, प्रत्येक जीव को जीवित रहने (Let every creature survive) के लिए पानी की आवश्यकता होती है। इसलिए, हम देखते हैं कि न केवल इंसानों को बल्कि पौधों और जानवरों को भी पानी की आवश्यकता होती है।
  6. इसके अलावा, जलीय जानवरों का घर (Aquatic animal house) उनसे छीन लिया जाएगा। इसका मतलब है कि हमें देखने के लिए कोई मछलियां और व्हेल नहीं होंगी। सबसे महत्वपूर्ण बात, अगर हम अभी पानी का संरक्षण नहीं करेंगे तो जीवों के सभी रूप विलुप्त हो जाएंगे।

पानी की गुणवत्ता और संदूषक  Water quality and contaminants

  1. दुनिया के ज्यादातर हिस्सों में अपरिष्कृत (Unsophisticated) पानी के प्रदूषण का सबसे आम स्रोत मानव मल (नालों से बहने वाला गंदा पानी) और विशेष रूप से मल संबंधी रोगाणु (Fecal germ) और परजीवी (Parasite) हैं। वर्ष 2006 में जलजनित रोगों से प्रति वर्ष 1.8 मिलियन लोगों के मारे जाने का अनुमान था जबकि लगभग 1.1 मिलियन लोगों के पास उपयुक्त पीने के पानी का अभाव था।
  2. यह स्पष्ट है कि दुनिया के विकासशील (Developing) देशों में पर्याप्त मात्रा में अच्छी गुणवत्ता के पानी, जल शुद्धीकरण (Purification) तकनीक और पानी की उपलब्धता एवं वितरण प्रणालियों तक लोगों की पहुंच होना आवश्यक है। दुनिया के कई हिस्सों में पानी का एकमात्र स्रोत छोटी जलधाराएं (Small streams) हैं जो अक्सर नालों की गंदगी से सीधे तौर पर संदूषित (Contaminated) होती हैं। अधिकांश पानी को उपयोग करने से पहले किसी प्रकार से उपचारित करने की आवश्यकता होती है, यहां तक कि गहरे कुओं (Deep wells) या झरनों के पानी (Water springs) को भी उपचार की सीमा पानी के स्रोत पर निर्भर करती है। जल उपचार के उचित तकनीकी विकल्पों में उपयोग के स्थान (पीओयू) पर सामुदायिक (community) और घरेलू दोनों स्तर के डिजाइन शामिल हैं।
  3. कुछ बड़े शहरी क्षेत्रों जैसे क्राइस्टचर्च, न्यूजीलैंड को पर्याप्त मात्रा में पर्याप्त रूप से शुद्ध पानी उपलब्ध है जहां अपरिष्कृत (Unsophisticated) पानी को उपचारित (Treated) करने की कोई आवश्यकता नहीं होती है। पिछले दशक के दौरान जलजनित रोगों को कम करने में पीओयू उपायों की सफलता सुनिश्चित करने के लिए एक बढ़ती हुई संख्या (increasing number) में क्षेत्र के आधार पर अध्ययन किये गए। बीमारी को कम करने में पीओयू विकल्पों ( choices) की क्षमता समुचित रूप (Capacity proper form) से प्रयोग किये जाने पर सूक्ष्म रोगाणुओं (Microbes) को हटाने की उनकी क्षमता और उपयोग में आसानी एवं सांस्कृतिक औचित्य जैसे सामाजिक कारकों दोनों की एक कार्यप्रणाली है।
  4. तकनीकें अपनी प्रयोगशाला-आधारित (Laboratory-based) सूक्ष्मजीव पृथक्करण क्षमता (Separation capacity) के प्रयोग की तुलना में ज्यादातर स्वास्थ्य लाभ उत्पन्न कर सकती हैं। पीओयू उपचार के मौजूदा समर्थकों (Supporters) की प्राथमिकता (Supporters) एक स्थायी आधार पर एक बड़ी संख्या में कम आय वर्ग के परिवारों तक पहुंचने की है। इस प्रकार पीओयू उपाय एक महत्वपूर्ण स्तर तक पहुंच गए हैं लेकिन इन उत्पादों का प्रचार-प्रसार (propaganda) और वितरण दुनिया भर के गरीबों के बीच किये जाने के प्रयास केवल कुछ ही वर्षों से चल रहे हैं।
इसे भी पढ़े -   वजन कम करने के आसान और असरदार नुस्खे – Weight Loss Tips in Hindi

खाली पेट पानी पीने के फायदे Benefits of Drinking Water on Empty Stomach

  1. भाग दौड़ भरी जिंदगी (Run life) में अगर शरीर को स्वस्थ रखना है, तो खान-पान पर सही ध्यान देना बहुत जरूरी है। वहीं, इसमें पानी की पर्याप्त मात्रा एक अहम भूमिका निभाती (Plays an important role) है। पानी न सिर्फ प्यास बुझाने (Quench thirst) का काम करता है, बल्कि यह कई शारीरिक समस्याओं के जोखिम को कम करने में भी एक अहम भूमिका निभा सकता है।
  2. यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम सुबह खाली पेट पानी पीने के फायदे बताने जा रहे हैं। वहीं, इस लेख में सुबह खाली पेट पानी पीने के तरीके (Ways to drink water on an empty stomach) और कुछ नुकसान को भी शामिल (Include) किया गया है| सुबह खाली पेट पानी पीने के फायदे अनेक हो सकते हैं।
  3. हालांकि, सीधे तौर पर सुबह खाली पेट पानी पीना कितना फायदेमंद होगा, इससे जुड़े सटीक वैज्ञानिक शोध का अभाव (Lack) है। नीचे पानी के शारीरिक फायदों (Physical benefits) के आधार पर सुबह खाली पेट पानी पीने के फायदे बताए जा रहे हैं। वहीं, इस बात का ध्यान रखें कि पानी नीचे बताई जा रही किसी भी समस्या का इलाज (Treatment) नहीं है। इसका सेवन इन समस्याओं के जोखिम (Risk of problems) को कम करने में मदद कर सकता है।
इसे भी पढ़े -   स्वादिष्ट और पौष्टिक शेक कैसे बनाये और जाने इसके जादुई फायेदे 🥤 Learn how to make delicious and nutritious shakes and its magical benefits!

खाली पेट पानी पीने का तरीका How to drink water on an empty stomach

खाली पेट पानी पीने के फायदे तो आप जान ही चुके हैं। चलिए, अब हम खाली पेट पानी के सेवन के तरीकों को बता देते हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं :

1.सुबह उठकर रोजाना क्षमता अनुसार (According to capacity एक से दो गिलास सादे पानी का सेवन किया जा सकता है।
2.एक गिलास पानी में एक चम्मच नींबू का रस (Lemon juice) मिलाकर भी सेवन किया जा सकता है।
3.सुबह-सुबह (early morning) एक-डेढ़ गिलास गुनगुने पानी का सेवन भी किया जा सकता है।
4.एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर (By adding honey) भी सेवन किया जा सकता है।

खाली पेट पानी पीने के नुकसान Side Effects of Drinking Water on Empty Stomach In Hindi

इसमें कोई शक नहीं कि सुबह खाली पेट पानी पीना बेहद फयदेमंद हो सकता है। लेकिन, अधिक मात्रा में इसका सेवन कुछ नुकसान (loss) पैदा कर सकता है। तो चलिए जान लेते हैं सुबह खाली पेट (empty stomach) पानी पीने के नुकसान :

1.अधिक मात्रा में पानी पीने के कारण ओवरहाइड्रेशन (शरीर में अधिक मात्रा में पानी का जमा होना) हो सकता है, जिससे सिरदर्द, थकान, चक्कर व
मतली की समस्या हो सकती है।
2.पानी को अधिक गर्म करके पीने से इसोफेगस कैंसर (Esophagus cancer) का खतरा हो सकता है।
3.पानी को हमेशा हल्का गर्म करके ही पीना चाहिए, अधिक गर्म पानी से (With hot water) जीभ जल सकती है।
4.वहीं, एक बार में अधिक मात्रा (More quantity) में पानी का सेवन दस्त का कारण बन सकता है। फिलहाल, इससे जुड़ा कोई वैज्ञानिक प्रमाण (scientific evidence) उपलब्ध नहीं है।